Sunday, February 15, 2009

ब्लोग की सालगिरह

आज इस ब्लोग ने एक साल पूरे कर लिए हैं। यह सब आप सब साथियों के सहयोग से संभव हो सका हैं इसलिए आप सभी का दिल से शुक्रिया। आज के दिन इस ब्लोग की पहली पोस्ट को थोड़ा रंग बिंरगा और थोडा बदलाव करके दुबारा पोस्ट करके ब्लोग की सालगिरह मनाने का मन किया।

नैना

कोई तेरे होने पर मनाये खुशी
और कोई अफ़सोस
कोई तेरे आने पर दे बधाई

और कोई दे दिलासा

ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?


कोई तुझे चुनमुन पुकारे
और कोई नैना

कोई तुझे दुर्गा बोले

और कोई सुनयना

ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?


कोई हँसे कि तू हँसे,
कोई रोये क्योंकि तू रोये

कोई खाये कि तू खाए

कोई सोये क्योंकि तू सोये

ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?


कोई कहे यह लड़कियों की सदी
कोई कहे फिर भी चाहत लड़को की

कोई बोले बेटे होते बुढापे की लाठी

कोई बोले मेरी बेटी मेरे बुढापे की नैना

ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?

30 comments:

रंजन said...

बधाई आपको..

seema gupta said...

कोई कहे यह लड़कियों की सदी
कोई कहे फिर भी चाहत लड़को की
कोई बोले बेटे होते बुढापे की लाठी
कोई बोले मेरी बेटी मेरे बुढापे की नैना
ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?

' ब्लॉग की सालगिरह पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाये...." ये पंक्तियाँ बहुत सुंदर हैं...

Regards

mamta said...

ब्लॉग की पहली सालगिरह मुबारक हो और भविष्य के लिए शुभकामनाएं ।

अविनाश वाचस्पति said...

सालगिरह मुबारक हो
पर इस गिरह से मुक्ति हो गई
सिर्फ अगले साल तक के लिए
अगले साल लगेगी दूसरी गिरह
तरह तरह की होती हैं गिरह
ग्रह, गृह और एक यही गिरह
गिरह को सराहते हैं सभी
चाहे हो साल की अथवा बाल की

रंजना [रंजू भाटिया] said...

वाह बहुत बहुत बधाई सुशील जी

कोई कहे यह लड़कियों की सदी
कोई कहे फिर भी चाहत लड़को की
कोई बोले बेटे होते बुढापे की लाठी
कोई बोले मेरी बेटी मेरे बुढापे की नैना
ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?
बहुत सही बात लिखी आपने ...लिखते रहे यूँ ही यही दुआ है

संगीता पुरी said...

सफलता प्राप्‍त करते हुए एक वर्ष पूरा कर लेने की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं।

Amit said...

बधाई आपको..

vandana said...

blog ki salgirah mubarak hao..............bahut sundar hain aapke 'naina'.

ek gaana yaad aa raha hai .............naino ki mat maniyo re.........naina dans lenge.

shayad yeh bhi ek roop hai na naino ka.
na jaane kya kya rang dikhate hain naina.

ताऊ रामपुरिया said...

एक साल पूरा होने की बहुत घणी बधाई जी आपको.

रामराम.

डॉ .अनुराग said...

साल दर साल तो यूँ ही गुजरते रहेगे ओर शब्द अपनी अपनी सीमाओ से झांक कर उचकर बात करते रहेगे ...पर उससे भी कही ज्यादा जरूरी है अच्छा इन्सान होना .जो की आप है ..ब्लोगिंग दरअसल अपनी सवेदनाओ को विस्तार करना है ओर उन्हें ओर अधिक मानवीय बनाना है ,उन्हें जिलाये रखना है ...महतवपूर्ण बात यही है....बाकी सब सिर्फ़ कहानी है

अल्पना वर्मा said...

blog ke ek saaal poore hone par aap ko badhayee.

'naina'kavita ke zareeye aap ne jo kahan chaha hai wo pathak tak pahunch raha hai.

कोई कहे यह लड़कियों की सदी
कोई कहे फिर भी चाहत लड़को की
कोई बोले बेटे होते बुढापे की लाठी
कोई बोले मेरी बेटी मेरे बुढापे की नैना
ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ?
kuchh sawaal hote hi aisey hain aksar dil mein aatey hain magar anutrit wapas laut jaatey hain..

हरि said...

एक साल का सफर तय करने के लिए बधाई। एक बार फिर-सालगिरह मुबारक।
इस अवसर पर आपकी रचना मन को भाई।

अभिषेक ओझा said...

बधाई !

कुश said...

anurag ji ki tippani ko meri bhi tippani samjhe..

हार्दिक बधाई

neeraj1950 said...

बहुत बहुत बधाई सुशील जी...सालों साल यूँ ही लिखते रहें...

नीरज

समयचक्र said...

ब्लॉग की सालगिरह पर बधाई शतायु हो की कमाना के साथ.

उन्मुक्त said...

साल पूरा करने की बधाई।

मुसाफिर जाट said...

सुशील जी,
सालगिरह मनाने की बधाई. बस जल्दी से 24 पोस्ट और लिख डालो, सेंचुरी मारने की भी बधाई दूंगा.

Shastri said...

प्रिय सुशील,

भावनाओं से संपुष्ट इस रचना को पढ कर मन को बडा सकून मिला.

सस्नेह -- शास्त्री

-- हर वैचारिक क्राति की नीव है लेखन, विचारों का आदानप्रदान, एवं सोचने के लिये प्रोत्साहन. हिन्दीजगत में एक सकारात्मक वैचारिक क्राति की जरूरत है.

महज 10 साल में हिन्दी चिट्ठे यह कार्य कर सकते हैं. अत: नियमित रूप से लिखते रहें, एवं टिपिया कर साथियों को प्रोत्साहित करते रहें. (सारथी: http://www.Sarathi.info)

सैयद said...

एक वर्ष पूरा कर लेने की बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं

Udan Tashtari said...

बहुत बधाई और शुभकामनाएं.

vijay gaur/विजय गौड़ said...

बधाई। जारी रहे सफ़र।

Vijay Kumar Sappatti said...

susheel ji

saalgirah ki mubarakbaad kabul farmaayen.. khuda karen ki aapki aur hamari aur bloggers ki dosti salamat rahe..
aur aap aise hi der saari pyaari pyaari rachnaayen likhe

badhai ho aur naina ko dr saara pyaar..

महामंत्री - तस्लीम said...

अरे वाह, बढिया बात बताई।
सालगिरह की बधाई।
कहाँ है मिठाई?

महामंत्री - तस्लीम said...

अरे वाह, बढिया बात बताई।
सालगिरह की बधाई।
कहाँ है मिठाई?

शिवराज गूजर. said...

blog ki saalgirag mubarak ho shusheel ji. aap ki kalam hamesha chalti rahe. yahee dua hai.

मीत said...

बहुत सुंदर...
बिटिया के लिए लिखी है न...
मीत

Harkirat Haqeer said...

एक वर्ष पूरा कर लेने की बहुत बहुत बधाई ....!!

कोई तेरे होने पर मनाये खुशी
और कोई अफ़सोस
कोई तेरे आने पर दे बधाई
और कोई दे दिलासा
ऐसा क्यूँ होता हैं नैना ......naina se ik bhola swal...bilkul aapki tarah...!!

अनिल कान्त : said...

jameeni hakeekqat bayan karti rachna ....bahut achchha laga padhkar

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

सालगिरह मुबारक!

LinkWithin

Related Posts with Thumbnails